Type Here to Get Search Results !

RAJSTHAN GENERAL KNOWLEDGE & PREVIOUS QUESTION PAPERS FREE DOWNLOAD HERE,

LA 2018- Master Question Paper of Lab Assistant Exam 2018

General Knowledge on Rajsthan Free Download Here,

राजस्थान की समस्त प्रतियोगी परीक्षाओं हेतु अति महत्वपूर्ण समग्र ज्ञान की जानकारी यहाँ से निशुल्क प्राप्त करें- 
Question Papers - Rajasthan Subordinate and Ministerial Services Selection Board,

Previous Year Papers : RSMSSB RSSB RPSC LDC Clerk Grade II,

RSSB Previous/ Old Paper in all fields,

Rajasthan SMSSB Investigator Previous Question Papers | RSMSSB,

Download RSMSSB Lab Assistant Previous Year Question Papers PDF,

Download RSMSSB Librarian Previous Year Question Papers PDF,

RSMSSB Librarian Grade-III Recruitment 2018 RSSB Exam notes,

RSMSSB Stenographer Previous Old Question Papers 2018, 

RSMSSB Librarian Grade-3, 4 Previous Year Question Paper, RSMSSB Jr. Assistant solved paper/ model paper / Previous Quiz, Rajasthan Patwari Previous Year Question Paper : Download Now, RSMSSB Previous Papers - Get RSMSSB Question Papers, RSMSSB Stenographer Previous Papers || Steno Old Question Papers, Rajasthan Lab Assistant Previous Papers & Sample Paper, RSSB LDC 12-08-2018 Morning Paper Answer Keys, RSMSSB NTT Teacher Previous Papers - Nursery Training Teacher, RSMSSB LDC Previous Year Papers, RSSB LDC Previous Year Papers, RPSC LDC Previous Year Papers, Download LDC Grade II Old Question Papers Pdf, RPSC LDC Grade II model papers, Rajasthan Lower Division Clerk 5 year papers, RSMSSB LDC Previous Papers pdf, Rajasthan ldc model papers download, RSMSSB RPSC LDC Written Exam Previous Year Papers, RSMSSB RPSC LDC Typing and Skill Test Previous Year Papers, Kanishath Sahayak Junior Assistant Previous Year Papers, LDC lipik II grade old papers, LDC solved old papers, Typing & Skill Test software for LDC,

General Knowledge on Rajsthan Free Download Here

Download Various Question Papers free at Links given below - अंत मे दिये गए लिंक से पिछले प्रश्न पत्र  डाउन्लोड करें -

Download Rajasthan GK in Hindi  - राजस्थान से संबन्धित सामान्य ज्ञान:      Rajasthan GK के लिए आयोजित होने वाली सभी परीक्षाओं के लिये बहुत ही लाभदायक है, और बहुत से विघार्थी SSC CGL, Railway, Banking, UPSC etc Exam  की तैयारी के लिए अलग - अलग किताबो के जरिये जानकारी इकठ्ठा करते है, लेकिल हम आपके लिये लाये हैं अतिमहत्वपूर्ण निशुल्क अतिउपयोगी ज्ञान की बैंक। 

सामान्य ज्ञान राजस्थान -सम्पूर्ण जानकारी हिंदी में:       जैसा कि आप सभी जानते हैं की हम आप सभी  छात्र-छात्राओं के लिए प्रतिदिन Competitive exams से सम्बंधित जानकारियां और PDF Notes शेयर करते हैं| दोस्तों आज जो PDF Notes हम आप सभी के लिए शेयर कर रह हैं वह “Rajasthan सामान्य ज्ञान -सम्पूर्ण जानकारी हिंदी में” है| दोस्तों आप सभी की जानकारी के लिए हम बता दें की प्रतियोगी परीक्षाओं में यहाँ से प्रश्न अवश्य पुछा जाता है| दोस्तों जो छात्र-छात्राएं विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे हैं  वो सभी इन Notes को डाउनलोड कर के एक बार अवश्य पढने और इसे अच्छे से याद करें| आप सभी इन PDF Notes को नीचे बटन पर क्लिक कर के आसानी से डाउनलोड कर सकते हैं|

राजस्थान का भौतिक स्वरूप

राजस्थान के भौतिक स्वरूप को चार भागों में बांटा गया हैं।
अ. उत्तरी-पश्चिमी मरूस्थलीय प्रदेश
ब. पूर्वी मैदानी भाग
स. दक्षिण-पूर्वी पठार/हाड़ौती का पठार
द.  अरावली पर्वतीय प्रदेश
अ. उत्तरी-पश्चिमी मरूस्थलीय प्रदेशः-
यह थार के मरूस्थल का भाग हैं। जो टेथिस सागर का अवशेष हैं। थार मरूस्थल का विस्तार राजस्थान,पंजाब, गुजरात एवं हरियाणा तक हैं।  राजस्थान में 12 जिले मरूस्थलीय माने जाते हैं। इस प्रदेश को मुख्यताः दो भागों में बांटा गया हैं।
1. शुष्क मरूस्थल प्रदेश
2. अद्र्वशुष्क मरूस्थल प्रदेश यह प्रदेश राजस्थान का सबसे बड़ा भौतिक प्रदेश हैं। जिसमें राजस्थान दो-तीहाई क्षैत्रफल आता हैं। यह प्रदेश के राज्य का लगभग 61 प्रतिशत  हैं। जिसमें राज्य कि 40 प्रतिशत जनसंख्या रहती हैं। यहाँ प्रदेश के विशाल लहरदार टीले हैं। जिनकों धोरे कहते हैं।  इस प्रदेश में 20 से 50 सेमी. वर्षा होती हैं। इस प्रदेश में शुष्क व विषम जलवायु व रेतीली बलुई मिट्टी पाई जाती हैं। यह विश्व का सर्वाधिक आबादी व जन घनत्व वाला मरूस्थल हैं। यहाँ सर्वाधिक जैव विविधता पाई जाती हैं। अतः इस क्षैत्र को रूक्ष क्षैत्र कहते हैं। अद्र्वचन्द्राकर विशेष आकृति के बालू के टीले को ‘बरखान’ कहते हैं।

अद्र्वशुष्क मरूस्थल प्रदेश को पुनः चार भागों में बांटा गया हैं।
1. शेखावाटी प्रदेश/बांगर प्रदेश
2. घग्घर का मैदान
3. उच्च नागौर प्रदेश
4. गौड़वाड प्रदेश/ लूनी प्रदेश

ब. पूर्वी मैदानी भागः-
यह प्रदेश राज्य के कुल क्षैत्रफल का 23 प्रतिशत हैं। यहाँ पर राज्य की 39 प्रतिशत जनसंख्या निवास करती हैं। इस प्रदेश में आर्द जलवायु पाई जाती हैं। तथा यहाँ पर सर्वाधिक उपजाऊ जलोढ़ दोमट मिट्टी पाई जाती हैं।  इस प्रदेश में सर्वाधिक जनसंख्या पाई जाती हैं। इसको मुख्यतः चार भागों में बांटा गया हैं।
1. चम्बल बेसीन
2. माही बेसिन
3. बनास बेसिन
4. बाण गंगा का मैदान

स. दक्षिण-पूर्वी पठार/हाड़ौती का पठारः-
यह मालवा के पठार का हिस्सा हैं। जो विध्यांचल पर्वतमाला एवं अरावली पर्वतमाला के मध्य मालवा का पठार स्थित हैं। जिसकी मिट्टी का रंग काला हैं। यह प्रदेश राज्य के कुल क्षैत्रफल का 6.89 प्रतिशत हैं। तथा इस प्रदेश में राज्य की 11 प्रतिशत जनसंख्या निवास करती हैं। इस प्रदेश में अति आर्द जलवायु पाई जाती हैं। इस क्षैत्र में सर्वाधिक खनिज पाये जाते हैं। इस प्रदेश कि मुकुदंरा की पहाड़िया कोटा व झालावाड़ जिले में फैली हुई हैं।
द. अरावली पर्वतीय प्रदेशः-
अरावली पर्वतमाला गोड़वाना लैण्ड का अवशेष हैं। अरावली पर्वतमाला सबसे प्राचीन वलीत पर्वतमाला हैं। अरावली पर्वतमाला श्रृंख्ला का शाब्दिक अर्थ ‘चोटियों कि पंक्ति’ से हैं। इसका उद्भव केम्ब्रियन युग के पुर्व हुआ। लेकिन सरंचनात्मक दृष्टि से अरावली पर्वत श्रृंख्ला देहली क्रम में हैं। अरावली पर्वतमाला की शुरूआत पालनपुर (गुजरात) से होती हैं। जबकि इसका अन्त दिल्ली की रायसिना कि पहाड़ी पर होता हैं। राजस्थान में अरावली पर्वतमाला खेड़ब्रह्ना (सिरोही) से खेतड़ी (झुंझुनू) तक फैली हुई हैं। इसकी कुल लम्बाई 662 किमी. हैं। और राजस्थान में इसकी लम्बाई 550 किमी. हैं। यह प्रदेश राज्य के कुल क्षैत्रफल का 9 प्रतिशत हैं। तथा जिसमें राजस्थान की 10 प्रतिशत जनसंख्या निवास करती हैं। इस प्रदेश में उपआर्द जलवायु पाई जाती हैं। जिसमें 50 से 90 सेमी. वर्षा होती हैं।  अरावली पर्वतमाला भारत में महान विभाजक रेखा का कार्य करती हैं। अरावली पर्वतमाला का राज्य में सर्वाधिक विस्तार उदयपुर में तथा सबसे कम अजमेर में हैं। इसकी सबसे ऊंची चोटी गुरूशिखर (1727 मी.) हैं। इसे कर्नल जेम्स टाॅड ने सन्तों का शिखर कहा हैं। अरावली पर्वतमाला की औसत ऊँचाई 930 मीटर हैं।


राजस्थान का भौतिक स्वरूप से सम्बंधित महत्वपूर्ण प्रश्न एवं उनके उत्तर -
1. राजस्थान में कितने जिले मरूस्थलीय माने जाते हैं।
अ. 10
ब. 12
स. 15
द. 33
उत्तरः- ब. 12
2. राजस्थान के भूभाग के क्षेत्रफल का कितना भाग रेगिस्तान हैं।
अ. एक-चैथाई
ब. एक-तीहाई
स. आधा भाग
द. दो-तीहाई
उत्तरः-द. दो-तीहाई
3. किस जिले में नेशनल वूड फाॅसिल पार्क स्थित हैं।
अ. सवाईमाधोपुर
ब. जोधपुर
स. जैसलमेर
द. बीकानेर
उत्तरः- स. जैसलमेर
4. राजस्थान के किस भौतिक क्षैत्र में मुकन्दरा की पहाड़ियाँ स्थित हैं।
अ. शेखावाटी
ब. हाडौती पठार
स. दक्षिणी अरावली
द. माही बेसीन
उत्तरः- ब. हाडौती पठार
5. सिरोही क्षैत्र कि पहाड़ियों को स्थानीय भाषा में कहा जाता हैं।
अ. भाकर
ब. भोराट
स. गिरवा
द. सांगलिया
उत्तरः- अ. भाकर
6. राजस्थान के किस  प्रदेश को बीहड़ कहते हैं।
अ. बनास बेसीन
ब. माही बेसीन
स. चम्बल बेसीन
द. लूनी बेसीन
उत्तरः-स. चम्बल बेसीन
7. छप्पन का  मैदान राजस्थान के भाग में स्थित हैं।
अ. उत्तरी भाग
ब. पूर्वी  भाग
स. पश्चिमी भाग
द. दक्षिणी भाग
उत्तरः- द. दक्षिणी भाग
8. शेखावाटी क्षैत्र में स्थानीय भाषा में कुएँ को क्या कहते हैं।
अ. जोहड़
ब. बावड़ी
स. बेरा
द. खूं
उत्तरः- अ. जोहड़
9. राजस्थान में स्थित थार का मरूस्थल किस का अवशेष हैं।
अ. गौंडवाना लैण्ड का
ब. अंगारालैण्ड का
स. लूनी नदी का
द. टेथिस सागर का
उत्तरः- द. टेथिस सागर का
10. किस प्रदेश में आर्द जलवायु पाई जाती हैं।
अ. उत्तरी-पश्चिमी मरूस्थलीय प्रदेश
ब. पूर्वी मैदानी भाग
स. दक्षिण-पूर्वी पठार/हाड़ौती का पठार
द.  अरावली पर्वतीय प्रदेश
उत्तरः- ब. पूर्वी मैदानी भाग
11. किस क्षैत्र में सर्वाधिक खनिज पाये जाते हैं।
अ. उत्तरी-पश्चिमी मरूस्थलीय प्रदेश
ब. पूर्वी मैदानी भाग
स. दक्षिण-पूर्वी पठार/हाड़ौती का पठार
द.  अरावली पर्वतीय प्रदेश
उत्तरः- स. दक्षिण-पूर्वी पठार/हाड़ौती का पठार
12. अरावली पर्वतमाला की शुरूआत कहाँ से होती हैं।
अ. पालनपुर (गुजरात)
ब. दिल्ली
स. खेतड़ी
द. उदयपुर
उत्तरः- अ. पालनपुर (गुजरात)
13. कर्नल जेम्स टाॅड ने किस शिखर को सन्तों का शिखर कहा हैं।
अ. सज्जनगढ़
ब. सेर
स. गुरूशिखर
द. जरगा
उत्तरः- स. गुरूशिखर
14. अरावली की राजस्थान में लम्बाई कितनी हैं।
अ. 682
ब. 692
स. 550
द. 650
उत्तरः- स. 550
15. किस क्षैत्र में सर्वाधिक उपजाऊ जलोढ़ दोमट मिट्टी पाई जाती हैं।
अ. उत्तरी-पश्चिमी मरूस्थलीय प्रदेश
ब. पूर्वी मैदानी भाग
स. दक्षिण-पूर्वी पठार/हाड़ौती का पठार
द.  अरावली पर्वतीय प्रदेश
उत्तरः- ब. पूर्वी मैदानी भाग
16. किस प्रदेश में 20 से 50 सेमी. वर्षा होती हैं।
अ. उत्तरी-पश्चिमी मरूस्थलीय प्रदेश
ब. पूर्वी मैदानी भाग
स. दक्षिण-पूर्वी पठार/हाड़ौती का पठार
द.  अरावली पर्वतीय प्रदेश
उत्तरः- अ. उत्तरी-पश्चिमी मरूस्थलीय प्रदेश
17. राजस्थान में अरावली की शुरूआत किस जिले से होती हैं।
अ. अजमेर
ब. उदयपुर
स. सिरोही
द. झुन्झुनू
उत्तरः- स. सिरोही
18. कौनसी पर्वतमाला भारत में महान विभाजक रेखा का कार्य करती हैं।
अ. विन्ध्यांचल
ब. अरावली
स. उपरोक्त दोनों
द. इनमें से कोई नहीं
उत्तरः- ब. अरावली
19. अरावली पर्वतमाला किसका अवशेष हैं।
अ. गौंडवाना लैण्ड का
ब. अंगारालैण्ड का
स. लूनी नदी का
द. टेथिस सागर का
उत्तरः- अ. गौंडवाना लैण्ड का
20. अरावली पर्वतमाला की औसत ऊँचाई कितनी मीटर हैं।
अ. 550
ब. 662
स. 930
द. 650
उत्तरः स. 930

राजस्थान की प्रमुख झीलें | Rajasthan Ki Pramukh Jheele


राजस्थान की प्रमुख झीलें

राजस्थान के मीठे पानी की झीलेंः-

फतेहसागर झील
इस झील का निर्माण जयसिंह ने उदयपुर के देवाली गाँव में करवाया। अतः इसे देवाली तालाब भी कहते हैं। इसकी आधार शिला ‘ड्युक आॅफ कनाॅट’ द्वारा रखी गई थी। बाद में बाढ़ से क्षतिग्रस्त होने पर फतेहसिंह ने इसका पुनः निर्माण करवाया।  इसके एक टापू पर नेहरू उधान हैं।  इसके पास सहेलियों कि बाड़ी  एवं एक सौर वेधाशाला स्थित हैं। फतेहसागर एवं पिछोला झील  को जोड़ने वाली झील “स्वरूप सागर “ हैं।
पिछोला झील
यह झील बेड़च नदी पर उदयपुर में स्थित हैं। इसका निर्माण 14वीं शताब्दी में राणा लाखा के शासन काल में एक चिड़िमार बंजारे ने अपने बैल की स्मृति में करवाया। इसमें सीसरमा एवं बुझड़ा नदीयां आकर गिरती हैं। इस झील में जगमन्दिर का निर्माण करणसिंह ने  1620 में शुरू किया तथा जगतसिंह प्रथम ने 1651 में पूर्ण करवाया। ताजमहल की वास्तुकला पर भारतीय भवन जग मंदिर पैलेस उदयपुर की वास्तुकला की छाप हैं। गुजरात अभियान के समय तथा  अंग्रेजो ने 1857 की क्रांति के समय शरण ली। इस झील में बीजारी नामक स्थान पर नटली का चबुतरा बना हुआ हैं। महाराणा प्रताप व मानसिंह की मुलाकत इसी झील की पाल पर हुई थी।
जयसमन्द झील
इस झील का निर्माण जयसिंह ने उदयपुर में गोमती नदी पर बाँध बनाकर करवाया। इस झील को ढेबर झील भी कहते हैं। यह भारत की दूसरी तथा राजस्थान की सबसे बड़ी कृत्रिम झील हैं। यह अन्तः प्रवाह की झील हैं। इसमें गोमती, झावरी एवं बागर नदियों का जल आकर गिरता हैं। इसमें कुल सात टापू हैं। जिनमें से बड़े टापू को बाबा का भागड़ा तथा छोटे टापू को प्यारी कहते हैं। इसके किनारे रूठी रानी का महल स्थित हैं।
पुष्कर झील
यह राज्य के अजमेर जिले में स्थित हैं। इसको हिन्दुओं का पाँचवा तिर्थ, तिर्थो का मामा, सबसे पवित्र एवं सबसे प्रदुषित झील भी कहते हैं।  इस झील को सर्वप्रथम पुष्कारणा ब्राह्यणों द्वारा खोदी जाने के कारण इसका नाम पुष्कर झील पड़ा। 1809 ई. में मराठा सरदारों ने  इसका पुनः निर्माण करवाया। इसके किनारे ब्रह्यजी का मन्दिर स्थित हैं। यह राज्य कि सबसे बड़ी मिठे पानी की प्राकृतिक झील हैं। यह झील ज्वालामुखी से निर्मित हैं। इसलिए इसे कालाडेरा झील भी कहते हैं। 1911 में मेडम मैरी ने यहाँ पर महिला घाट बनवाया जो गाँधी घाट कहलाता हैं। यहाँ पर कार्तिक पूर्णिमा में राज्य का सबसे रंगीन मेला लगता हैं। यह स्थान सर्वाधिक ऊँट बिक्री के लिए भी प्रसिद्व हैं।
आना सागर झील
यह राज्य के अजमेर जिले के नागपहाड़ व तारागढ़ के  मध्य स्थित हैं। इसका निर्माण अर्णोराज ने 1137 ई. में चन्द्रावती नदी के जल को रोककर करवाया।  जहाँगिर ने इसके पास दौलत बाग बनवाया। जिसे वर्तमान समय में सुभाष उधान के नाम से जाना जाता हैं। यहाँ पर शाहजहाँ 5 बारहदरी का निर्माण भी करवाया।
नक्की झील
यह झील माउण्ट आबू में स्थित हैं। जिसका निर्माण 14 वीं शताब्दी में किया गया। यह सबसे ऊँची एवं सबसे गहरी झील हैं। इसमें दो चट्टाने हैं, जिनकी आकृति टाॅड-राॅक (मेंढक के समान) नन राॅक(महिला के समान) जैसी हैं। किंवदती के अनुसार इसका निर्माण देवताओं ने नाखूनों से किया। राज्य की एकमात्र झील जो सर्दियों में जम जाती हैं। इस झील के किनारे सनसेट का दृश्य निहारने के लिए पर्यटक माउण्ट आबू आते हैं।
राजसमन्द झील
कांकरोली में राजसिंह ने 1600 से 1662 में इसका निर्माण करवाया।  इस झील में गोमती नदी का पानी आकर गिरता हैं। इसके उत्तरी भाग पर नौ चैकी पाल स्थित हैं जिस पर रणछोड़ भट्ट द्वारा संस्कृत भाषा में 25 खण्डों में शिलालेख लिखा हैं। जिसमें मेवाड़ का इतिहास लिखा हुआ हैं। इन्हें “राजप्रशस्ति“ के नाम से जाना जाता हैं। जो संसार कि सबसे बड़ी प्रशस्ति हैं। यह राजस्थान की दूसरी बड़ी कृत्रिम झील हैं।
फाॅयसागर झील
यह झील अजमेर जिले में स्थित हैं। इसका निर्माण इंजीनियर फाॅय के निर्देशन में अकाल राहत कार्य के तहत बांडी नदी पर बाँध बनाकर करवाया। इसमें अधिक जल भरने पर इसका पानी आनासागर झील में जाता हैं।
कोलायत झील
यह बीकानेर में स्थित हैं। यह एक प्राकृतिक झील हैं। जहाँ कपिल मुनी का मेला प्रतिवर्ष कार्तिक पूर्णिमा को भरता हैं। यह झील राष्ट्रीय राजमार्ग-15 पर स्थित हैं। इसे शुष्क मरूस्थल का सुन्दर उधान भी कहते हैं।
सिलीसेढ़ झील
यह झील राष्ट्रीय राजमार्ग-8 पर अलवर जिले में स्थित हैं। इसका निर्माण विनयसिंह ने रानी शिला हेतु करवाया था जिसे राजस्थान का नन्दन कानन भी कहते हैं। वर्तमान समय में इसे होटल लेक पैलेस में तब्दील कर दिया गया हैं।
कायलाना झील
यह झील जोधपुर में स्थित हैं। शुरू में यह प्राकृतिक झील थी। जिसे वर्तमान स्वरूप सर प्रताप ने दिया।  इससे जोधपुर शहर को पेयजल दिया जाता हैं। वर्तमान में इस झील से राजीव गाँधी केनाल से पानी आता हैं। इसके किनारे माचिया सफारी पार्क स्थित हैं।
अन्य मिठे पानी की झीलें एवं उनका स्थानः-
अमर सागर झील, गढ़सीसर झील एवं बुझ झील = जैसलमेर
बुढ्ढा जोहड़ झील = श्रीगंगानगर
तलवाड़ा झील = हनुमानगढ़
रामगढ़ झील, गलता झील एवं मानसागर झील = जयपुर
जैतसागर झील, नवलसागर झील, कनकसागर झील एवं रामसागर झील = बूँदी
काँडेला झील एवं भीमसागर झील = झालावाड़
भोपाल सागर झील = चितौड़गढ़
गैव सागर झील = डूँगंरपुर
नन्दसमन्द झील = राजसमन्द
गजनेर झील = बीकानेर
मोती झील = भरतपुर
तालाब-ए-शाही झील = धोलपुर
किशोर सागर झील = कोटा
चैपड़ा झील = पाली
बालसमन्द झील = जोधपुर
उदयसागर झील, गोवर्धन सागर झील एवं फतेह सागर झील = उदयपुर

राजस्थान में खारे पानी प्रमुख झीलें

साँभर झील
यह झील जयपुर के फुलेरा गाँव में स्थित हैं। इसका कुछ भाग नागौर में भी हैं। अतः इसका प्रशासनिक कार्य जयपुर में किया जाता हैं। साँभर झील का तल समुद्र के तल से भी निचा हैं। यह राजस्थान की सबसे बड़ी प्राकृतिक व खारे पानी की झील हैं। बिजौलिया शिलालेख के अनुसार साँभर झील का निर्माता वासुदेव चैहान था। इस झील से देश का सर्वाधिक नमक लगभग 8.7 प्रतिशत प्राप्त किया जाता हैं। यहाँ ‘म्यूजियम साॅल्ट’ कि स्थापना कि गई। जिसे पर्यटन क्षैत्र में रामसर साइट के नाम से जाना जाता हैं। साँभर झील में नमक क्यारी पद्वति से बनाया जाता हैं। यहाँ केन्द्र सरकार द्वारा “हिन्दुस्तान साँभर साॅल्ट लिमिटेड“ की स्थापना 1964 में की गई।
पंचभद्रा झील
बालोतरा (बाड़मेर) में पंचा नामक भील ने दलदल सुखाकर इस झील का निर्माण किया था। वर्तमान यहाँ खारवाल जाति के लोग ‘मोरली झाड़ी’ से नमक बनाते हैं। यहाँ सर्वश्रेष्ठ किस्म का नमक बनाया जाता हैं। इस झील में सोडियम क्लोराइड कि मात्रा 98 प्रतिशत तक पाई जाती हैं। यह भारत की सबसे खारे पानी की झील हैं।
डीडवाना झील
यहाँ पर निजी संस्थाओं द्वारा नमक प्राप्त किया जाता हैं। इन निजी संस्थाओं को देवल कहते हैं। यहाँ के नमक में सर्वाधिक फ्लोराइड पाया जाता हैं। इसलिए यह नमक खाने योग्य नहीं हैं। यहाँ का नमक चमड़ा उधोग व कागज उधोग में उपयोगी हैं।
अन्य महत्वपूर्ण खारे पानी की झीलें एवं उनका स्थानः-
लूणकरणसर झील = बीकानेर
प्रीतमपुरी/पीथमपुरी झील, रेवासा झील एवं कोछोर झील = सीकर
बाप झील एवं फलौदी झील = जोधपुर
कछोर झील एवं कावोद झील = जैसलमेर


राजस्थान की प्रमुख झीलों से सम्बंधित महत्वपूर्ण प्रश्न एवं उनके उत्तर -


1. राजस्थान की सबसे बड़ी कृत्रिम झील हैं।
अ. राजसमन्द झील
ब. जयसमन्द झील
स. पुष्कर
द. नक्की झील
उत्तरः- ब. जयसमन्द झील
2. जयसमंद झील कहाँ स्थित हैं।
अ. जयपुर
ब. राजसमंद
स. उदयपुर
द. जोधपुर
उत्तरः- स. उदयपुर
3. निम्न में से कौनसी खारे पानी झील नहीं हैं।
अ. साँभर
ब. रैवासा
स. लूणकरणसर
द. नक्की
उत्तरः- द. नक्की
4. निम्नलिखित में से खारे पानी की झील कौनसी हैं।
अ. राजसमन्द
ब. कायलाना
स. सिलीसेढ़
द. पंचपदरा
उत्तरः- द. पंचपदरा
5. राजस्थान की प्रसिद्व झील पर नटनी का चबुतरा स्थित हैं।
अ. पिछोला झील
ब. जयसमन्द झील
स. पुष्कर
द. नक्की झील
उत्तरः- अ. पिछोला झील
6. जगमन्दिर व जग निवास महल किस झील पर स्थित हैं।
अ. पिछोला झील
ब. जयसमन्द झील
स. पुष्कर
द. नक्की झील
उत्तरः- अ. पिछोला झील
7. राजस्थान के सबसे पवित्र झील कौनसी हैं।
अ. पिछोला झील
ब. जयसमन्द झील
स. पुष्कर झील
द. नक्की झील
उत्तरः- स. पुष्कर झील
8. इंग्लैण्ड की महारानी मेरी की दिसम्बर 1911 की भारत यात्रा के स्मरणार्थ “क्वीन मेरी जनाना घाट“ का निर्माण किया।
अ. पिछोला झील
ब. जयसमन्द झील
स. पुष्कर झील
द. नक्की झील
उत्तरः- स. पुष्कर झील
9. पंचपदरा में बड़ी मात्रा में किसका निर्माण किया जाता हैं।
अ. सिल्क
ब. नमक
स. चिनी
द. लकड़ी के खिलौने
उत्तरः- ब. नमक
10. कोलायत झील कहाँ स्थित हैं।
अ. जैसलमेर
ब. बीकानेर
स. जोधपुर
द. अजमेर
उत्तरः- ब. बीकानेर
11. गेप सागर झील किस जिले में स्थित हैं।
अ. उदयपुर
ब.  अजमेर
स. डूँगरपुर
द. चितौड़गढ़
उत्तरः- स. डूँगरपुर
12. गढ़सीसर सरोवर कहाँ स्थित हैं।
अ. जैसलमेर
ब. बीकानेर
स. जोधपुर
द. अजमेर
उत्तरः- अ. जैसलमेर
13. आनासागर झील का निर्माण किसने करवाया।
अ. पृथ्वीराज
ब. अर्णोराज
स. जयसिंह
द. राजसिंह
उत्तरः- ब. अर्णोराज
14. राजस्थान में सबसे अधिक नमक किस झील में उत्पादन होता हैं।
अ. साँभर
ब. रैवासा
स. लूणकरणसर
द. डिडवाना
उत्तरः- अ. साँभर
15. भारत के कुल नमक उत्पादन का सांभर झील में कितना नमक उत्पादित होता हैं।
अ.  8.7 प्रतिशत
ब. 30 प्रतिशत
स. 41 प्रतिशत
द.18.5 प्रतिशत
उत्तरः- अ.  8.7 प्रतिशत
16. झील में सोडियम क्लोराइड कि मात्रा 98 प्रतिशत तक पाई जाती हैं।
अ. साँभर
ब. पंचपदरा
स. लूणकरणसर
द. डिडवाना
उत्तरः- ब. पंचपदरा
17. कपिल मुनी का मेला प्रतिवर्ष कार्तिक पूर्णिमा को किस झील के किनारे भरता हैं।
अ. पिछोला झील
ब. जयसमन्द झील
स. पुष्कर
द. कोलायत झील
उत्तरः- द. कोलायत
18. बिजौलिया शिलालेख के अनुसार साँभर झील का निर्माता कौन था।
अ. वासुदेव चैहान
ब. अर्णोराज
स. जयसिंह
द. राजसिंह
उत्तरः- अ. वासुदेव चैहान
19. किस झील के किनारे पर्यटक सनसेट का दृश्य निहारते हैं।
अ. पिछोला झील
ब. जयसमन्द झील
स. पुष्कर झील
द. नक्की झील
उत्तरः- द. नक्की झील
20. नवलसागर झील कहाँ स्थित हैं।
अ. जैसलमेर
ब. बीकानेर
स. बूँदी
द. कोटा
उत्तरः- स. बूँदी
Click Here for Downloading PDF files Free.....
RSSB Gram Sevak Question Paper 1   See Answer Keys Next
1.                   Rajasthan gk pdf in hindi - part 1

2.                   Rajasthan gk pdf in hindi - part 2

3.                   Rajasthan gk pdf in hindi - part 3

4.                   Rajasthan gk pdf in hindi - part 4

5.                   Rajasthan gk pdf in hindi - part 5

6.                   Rajasthan gk pdf in hindi - part 6

7.                   Rajasthan gk pdf in hindi - part 7

8.                   Rajasthan gk pdf in hindi - part 8

9.                   Rajasthan gk pdf in hindi - part 9

10.               Rajasthan gk pdf in hindi - part 10

11.               Rajasthan gk pdf in hindi - part 11

12.               Rajasthan gk pdf in hindi - part 12

13.               Rajasthan gk pdf in hindi - part 13

14.               Rajasthan gk pdf in hindi - part 14

15.               Rajasthan gk pdf in hindi - part 15

16.               Rajasthan gk pdf in hindi - part 16

17.               Rajasthan gk pdf in hindi - part 17

18.               Rajasthan gk pdf in hindi - part 18

19.               Rajasthan gk pdf in hindi - part 19

20.               Rajasthan gk pdf in hindi - part 20

21.               Rajasthan gk pdf in hindi - part 21

22.               Rajasthan gk pdf in hindi - part 22

23.               Rajasthan gk pdf in hindi - part 23

24.               Rajasthan gk pdf in hindi - part 24

25.               Rajasthan gk pdf in hindi - part 25

26.               Rajasthan gk pdf in hindi - part 26

27.               Rajasthan gk pdf in hindi - part 27

28.               Rajasthan gk pdf in hindi - part 28

29.               Rajasthan gk pdf in hindi - part 29

Top Post Ad

Below Post Ad